टेलिकॉम संकट: फिर से बढ़ सकती है मोबाइल टैरिफ प्लान्स की कीमत?

 

टेलिकॉम संकट: फिर से बढ़ सकती है मोबाइल टैरिफ प्लान्स की कीमत?

पिछले कुछ समय से टेलिकॉम सेक्टर में भूचाल आया हुआ है। जिसे Airtel, Vodafone-Idea, Reliance Jio जैसी टेलिकॉम कंपनियों ने अपने टैरिफ प्लान्स की कीमतों को 40 फीसद तक महंगा कर दिया था। इससे यूजर्स को पहले से ज्यादा शुल्क देना पड़ रहा है। इस कदम के पीछे की वजह पर गौर करें तो कंपनियों ने बताया था कि उन्हें बिजनेस में काफी नुकसान हो रहा है जिसके चलते यह कदम उठाया गया है। इसके बाद एक और खबर आई थी कि TRAI ने जनवरी 2021 तक IUC (इंटरकनेक्ट यूसेज चार्ज) खत्म करने से मना कर दिया है। अब और नई खबर सामने आ रही है जो यूजर्स की चिंता को दोगुना कर सकती है।

राजन मैथ्यूज ने कहा कंपनियों को घाटे से मुनाफे की तरफ बढ़ना है तो टैरिफ को महंगा करना होगा

टेलिकॉम टॉक की एक रिपोर्ट की मानें तो सेल्युलर ऑपरेटर असोसिएशन ऑफ इंडिया (COAI) के डायरेक्टर जनरल राजन मैथ्यूज ने टैरिफ को महंगा रखे जाने की बात कही है। उन्होंने कहा है कि अगर टेलिकॉम कंपनियों को घाटे से मुनाफे की तरफ बढ़ना है तो टैरिफ को महंगा करना जारी रखना होगा। साथ ही यह भी कहा है कि टैरिफ प्लान्स की कीमत को इतना बढ़ाया जाना जरूरी है कि औसत रूप से 200 रुपये रवेन्यू प्रति यूजर बढ़ाया जा सके। इसके अलावा (COAI) ने टेलिकॉम सेक्टर में डाटा और वॉयस के लिए फ्लोर प्राइसिंग तय करने की भी मांग की है।

TRAI ने फ्लोर प्राइस के लिए एक कंसल्टेशन पेपर तैयार कर रही है। इससे यह उम्मीद लगाई जा रही है कि आने वाले कुछ समय में प्रीपेड प्लान्स की कीमत कों में बढ़ोतरी हो सकती है। इस स्थिति के बाद टेलिकॉम सेक्टर में क्या बदलाव देखने को मिलेगा यह काफी दिलचस्प होगा।

IUC रहेगा जारी

TRAI ने IUC को जारी रखने का फैसला लिया है। TRAI ने कहा है कि स्टेकहोल्डर्स द्वारा लिखित और ओपन हाउस डिस्कशन के बाद प्राधिकरण ने वॉयरलेस डोमेस्टिक कॉल के लिए जीरो टर्मिनेशन चार्ज 1 जनवरी 2021 से लागू करने की घोषणा की है।

From around the web

Health

Entertainment