कांग्रेस का हुआ पलटवार, जयराम रमेश बोले- चाहे तो आजाद को आसानी से कर सकते हैं बेनकाब

0
54

कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा देने के बाद आज सोमवार को गुलाम नबी आजाद ने मीडिया के सामने राहुल गांधी और पार्टी पर जमकर हमला बोला है, जिसको लेकर वरिष्ठ कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने ट्वीट करते हुए आजाद को आड़ों हाथे लिया। आजाद ने मीडिया से कहा कि मुझे पार्टी छोड़ने के लिए मजबूर किया गया था। आजाद के इस बयान पर कांग्रेस ने सफाई दी है। जयराम रमेश ने कहा कि आजाद अपने विश्वासघात को सही ठहरा रहे हैं और बदनामी का अभियान चला रहे हैं।

जयराम रमेश ने ट्वीट करते हुए कहा कि, ‘आजाद वर्षों तक जिस पार्टी में रहे, जहां उन्हें सब कुछ मिला, उन्हें उसी पार्टी को बदनाम करने का काम सौंपा गया है। यह उनके स्तर को और गिरा रहा है। आखिर क्यों हर मिनट वह अपने विश्वासघात को सही ठहरा रहे हैं? उन्हें आसानी से बेनकाब किया जा सकता है, लेकिन हम अपना स्तर क्यों गिराएं?’

जय राम रमेश ने आगे ट्वीट करते हुए लिखा कि “अगर गुलाम नबी आजाद और उनके रिमोट कंट्रोल को लगता है कि उनका इस्तीफा 4 सितंबर को कांग्रेस पार्टी की महंगाई रैली और 7 सितंबर को भारत जोड़ों यात्रा की शुरुआत को अस्थिर कर देगा तो वे बहुत गलत हैं। इस्तीफे ने हमारे संकल्प को और मजबूत किया है।”

इससे पहले गुलाम नबी आजाद के इस्तीफे और लगातार गांधी परिवार और पार्टी पर जवाबी हमला कर रहे पर जयराम रमेश ने आजाद पर तीखा हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि गुलाम का डीएनए मोदीफाइड हो गया है। रमेश ने आगे कहा कि एक ऐसे व्यक्ति को जिसे कांग्रेस नेतृत्व ने इतना सम्मान दिया, उसने बेहद निजी और घटिया हमला करके विश्वासघात किया है। जयराम रमेश ने कहा कि आजाद के इस बर्ताव से उनका असली चरित्र सबके सामने आ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here