DharmEntertainmentFeaturedFinanceLatest NewsLifeStyleNationalPolitics

जानिए, स्वतंत्रता दिवस के अवसर प्रधानमंत्री मोदी ने क्या अहम बाते कही।

जानिए, स्वतंत्रता दिवस के अवसर प्रधानमंत्री मोदी ने क्या अहम बाते कही।

आज पूरा देश स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। हमारी आजादी को आज 75 साल पूरे हो गए हैं। पीएम मोदी ने सबसे पहले राजघाट पर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की और फिर लालकिला पहुंचे। गार्ड ऑफ ऑनर का निरीक्षण करने के बाद पीएम मोदी ने ध्वजारोहण किया और लाल किले की प्राचीर से पीएम ने देश को संबोधित किया। इस दौरान पीएम ने देशवासियों को 75वें स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी। प्रधानमंत्री ने कई मुद्दों पर अपनी बात रखी। पीएम ने परिवारवाद को लेकर कहा कि दुर्भाग्य से राजनीतिक क्षेत्र की इस बुराई ने देश की हर संस्थाओं में पोषित कर दिया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि देश की आजादी के 75 साल बाद पहली बार लाल किले पर तिरंगे को सलामी देने के लिए ‘मेड इन इंडिया’ तोप का इस्तेमाल किया गया। मोदी ने कहा कि, ‘‘आजादी के 75 साल के बाद जिस आवाज को सुनने के लिए हमारे कान तरस रहे थे। आज 75 साल के बाद वो आवाज सुनाई दी है। 75 साल के बाद लाल किले पर तिरंगे को सलामी देने का काम पहली बार ‘मेड इन इंडिया’ तोप ने किया है।’’

अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने एक अहम बात का जिक्र करते हुए कहा कि सेमीकंडक्टर के उत्पादन, 5जी और आप्टिक फाइबर से शिक्षा, स्वास्थ्य को गति मिली है और आम लोगों के जीवन में महत्वपूर्ण बदलाव आया है। उन्होंने कहा, ‘5जी, चिप विनिर्माण के साथ हम डिजिटिल इंडिया के जरिये जमीनी स्तर पर व्यापक बदलाव ला रहे हैं।’

पीएम मोदी के आत्मनिर्भर भारत के आह्वान का समर्थन करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत ने सोमवार को कहा कि भारत को काफी संघर्ष के बाद आजादी मिली है और उसे आत्मनिर्भर बनने की जरूरत है। देश की आजादी की 75वीं सालगिरह पर महाराष्ट्र के नागपुर शहर में स्थित संघ मुख्यालय में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद भागवत ने वहां आयोजित एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि भारत विश्व को शांति का संदेश देगा।

भ्रष्टाचार के खिलाफ हिंदुस्तान एक नए कालखंड में कदम रखता है। भ्रष्टाचार देश को दीमक की तरह खोखला करता है। मुझे इसके खिलाफ लड़ाई को निर्णायक मोड़ पर ले जाना है, मै इसके खिलाफ आपका समर्थन और सहयोग चाहता हूं। मैं अपने सामान्य नागरिक के लिए आन बान और शान के साथ जीने का रास्ता बनाना चाहता हूं। यहां भ्रष्टाचार के प्रति भी कुछ मामलों में नरमी बरती जाती है। जब तक समाज में गंदगी के प्रति नफरत नहीं होती है तो तब तक स्वच्छता नहीं होती है। भ्रष्टाचारियों के प्रति हमें जागरूक होने की जरूरत है। दुर्भाग्य से राजनीतिक क्षेत्र की इस बुराई ने देश की हर संस्थाओं को कुपोषित कर दिया है। इसके कारण मेरे देश के टैलेंट को नुकसान होता है। मेरे देश के सामर्थ्य को नुकसान होता है- पीएम मोदी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button