यदि आप भी है दुविधा में की किस दिन मनाए रखी तो जानिए हमारे साथ कब, किस समय और किस दिन मनाए रक्षाबंधन का त्योहार।

0
60

यदि आप भी है दुविधा में की किस दिन मनाए रखी तो जानिए हमारे साथ कब, किस समय और किस दिन मनाए रक्षाबंधन का त्योहार।

भाई-बहन के सबसे महत्वपूर्ण और स्नेह पर्व रक्षाबंधन पर इस वर्ष भद्रा ने खलल डाल दिया है। भद्रा के कारण रक्षाबंधन का पर्व इस वर्ष दो दिन मनाया जाएगा। वैसे तो पूर्णिमा तिथि 11 अगस्त को है मगर दिनभर भद्रा रहने के कारण उसमें राखी नहीं बांधी जा सकेगी। इसलिए अब भद्रा के खत्म होने के बाद ही राखी बांधी जा सकेगी। वहीं, ऐसी स्थिति में धर्माचार्यों ने उदया तिथि को देखते हुए 12 अगस्त को दिनभर राखी बांधने की सलाह दी है।

पूर्णिमा तिथि 11 अगस्त की सुबह 9.35 बजे लगकर 12 अगस्त की सुबह 7.16 बजे तक रहने वाली है। वहीं, 11 अगस्त की सुबह 9.35 से रात 8.25 बजे तक भद्रा भी है। भद्राकाल खत्म होने के बाद ही राखी बांधना उचित रहेगा। भद्राकाल में होलिका दहन व राखी बांधना अनुचित होता है। इसका पालन न करने वालों को शारीरिक, आर्थिक व मानसिक कष्टों का सामना करना पड़ सकता है। इसे देखते हुए राखी पूर्णिमा तिथि में बांधना चाहिए। भद्रा खत्म होने के बाद 11 अगस्त की रात 8.26 बजे से राखी बांधना उचित होगा।

रक्षाबंधन को लेकर बाजारों में रौनक छाई हुई है। तरह-तरह की राखियां दुकानों में सजी हुई हैं। महिलाओं व युवतियों की भीड़ सौंदर्य प्रशासन केंद्रों पर है। रेडीमेड गारमेंट्स की दुकानों पर भी भीड़ है। सोने-चांदी के आभूषणों की भी खरीद तेजी से हो रही है, साथ ही मिठाई की दुकानें भी सज गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here